हमारी हिंदी भाषा का साहित्य किसी भी दूसरी भारतीय भाषा से किसी अंश से कम नहीं है। - (रायबहादुर) रामरणविजय सिंह।

Find Us On:

English Hindi
Loading
मंत्र  (कथा-कहानी) 
Click to print this content  
Author:शैल चन्द्रा

नवनियुक्त क्लर्क हेमराज अपने अन्य बाबूओं की ठाठ-बाठ देख हतप्रभ था और अपनी दीनता पर मायूस।

बड़े बाबू ने उसके कान में एक मंत्र दिया। उस मंत्र का असर ऐसा हुआ कि हेमराज के भी ठाठ-बाठ हो गए। उसने सायकल छोड़ दी। अब वह बाइक से कार्यालय आने लगा।

Previous Page  |   Next Page

Comment using facebook

 
 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.