Hindi story, poem, Hindi news stories -Bharat Darshan | भारत-दर्शन
किसी साहित्य की नकल पर कोई साहित्य तैयार नहीं होता। - सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला'।

Find Us On:

English Hindi
1 / 5
2 / 5
3 / 5
4 / 5
5 / 5
Loading

जुलाई-अगस्त 2018

जुलाई-अगस्त 2018

भारत-दर्शन से जुड़ें : फेसबुक - गूगल प्लस - ट्विटर

इस अंक की कथा-कहानियों में गुलेरी की 'हीरे का हीरा', प्रेमचंद की 'महातीर्थ', सुब्रह्मण्य भारती की 'अर्जुन का संदेह', लीलावती मुंशी की 'जीवन संध्या' व सुशांत सुप्रिय की 'भूकंप' प्रकाशित की गई हैं। इसके अतिरिक्त लघु-कथाएं, लोक-कथाएं, संस्मरण प्रकाशित किए गए हैं।

लोक-कथाओं में भारतीय लोक-कथाओं के अतिरिक्त इस बार न्यूज़ीलैंडऑस्ट्रेलिया की लोक-कथाएं प्रकाशित की गई हैं।

इस बार साक्षात्कार के अंतर्गत हम आपकी मुलाकात 'मदारीपुर जंक्शन' के उपन्यासकार 'बालेन्दु द्विवेदी' व न्यूज़ीलैंड लोक-कथाओं की लेखिका 'प्रीता व्यास' से करवा रहे हैं।

काव्य में गीत, ग़ज़ल, कविता, दोहे, भजन व हास्य कविताएं सम्मिलित की गई हैं।
बाल-साहित्य के अंतर्गत शेखचिल्ली की कहानी, 'ख्याली जलबी', अरविंद की सीख भरी बाल-कथा, 'बेईमान' और सुभद्राकुमारी चौहान की 'हींगवाला' बच्चों को रोचक लगेंगी। बालस्वरूप राही व निरंकार देव सेवक के बाल-गीत पढ़कर बच्चे आनंदित होंगे।

आलेखों में इलाश्री का आलेख 'माँ का संवाद - लोरी', गोवर्धन यादव का 'यात्रा अमरनाथ की' व '1857 के आन्दोलन में उत्तर प्रदेश का योगदान' पठनीय है।

 

Our News

11वां विश्व हिंदी सम्मेलन

11वां विश्व हिंदी सम्मेलन विदेश मंत्रालय द्वारा मॉरीशस सरकार के सहयोग से 18-20 अगस्त 2018 तक मॉरीशस में आयोजित किया जा रहा....

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश