क्या संसार में कहीं का भी आप एक दृष्टांत उद्धृत कर सकते हैं जहाँ बालकों की शिक्षा विदेशी भाषाओं द्वारा होती हो। - डॉ. श्यामसुंदर दास।

Find Us On:

Find Bharat-Darshan on Facebook
English Hindi
1 / 3
2 / 3
3 / 3
Loading

हिंदी : सितंबर-अक्टूबर 2020

हिंदी : सितंबर-अक्टूबर 2020

भारत-दर्शन से जुड़ें : फेसबुक - गूगल प्लस - ट्विटर


भारत-दर्शन ऑनलाइन पत्रिका (न्यूज़ीलैंड) का ऑनलाइन हिंदी उत्सव
12 सितंबर 2020 (शनिवार)

समयः
न्यूज़ीलैंड- शाम 5:30 - 7:00 तक
भारत- प्रातः 11 बजे - दोपहर 1:30 तक,

जुडने के लिए गूगल मीट का लिंक :
https://meet.google.com/vjt-snbe-gqa

आप सादर आमंत्रित हैं।

अधिक जानकारी के लिए भारत-दर्शन के फ़ेसबुक से जुड़ें:
https://www.facebook.com/bharatdarshanz/

 

इस अंक में कथा-कहानियों अतिरिक्त पढ़िए  लघु-कथाएंलोक-कथाएंसंस्मरण प्रकाशित किए गए हैं।इस अंक में पढ़िए - भारतेन्दु हरिश्चन्द्र का आलेख, 'हिन्दी भाषा की समृद्धता', महापण्डित राहुल सांकृत्‍यायन का आलेख, 'हिन्दी का स्थान', नरेंद्र देव का आलेख, 'महात्मा गांधी -शांति के नायक'।

हिंदी प्रौद्योगिकी में डॉ ओम विकास का आलेख, 'समग्र विकास के लिए हिन्दी : देवनागरी में या रोमन में', डॉ विजय कुमार मल्‍होत्रा का आलेख, 'हिंदी में आगत शब्दों के लिप्यंतरण के मानकीकरण की आवश्यकता', अरविंदकुमार का आलेख, 'डिजिटल संसार में हिन्दी के विविध आयाम'। इनके अतिरिक्त अनेक आलेख प्रकाशित किए गए हैं।

कथा-कहानियों में किशोरिलाल गोस्वामी की, 'इन्दुमती', राजा शिवप्रसाद सितारे हिंद की, 'राजा भोज का सपना', शरत की, 'अनुपमा का प्रेम', डॉ रमेश पोखरियाल निशंक की, 'बस एक ही इच्छा', अनिता बरार (ऑस्ट्रेलिया से) की, 'तीन पत्र'। इनके अतिरिक्त अनेक हिन्दी की सर्वश्रेष्ठ कहानियाँ व छोटी कहानियाँ प्रकाशित हैं।

इस बार संस्मरण में गांधी जी, सुभाष बाबू के 'हिन्दी प्रेम' के अतिरिक्त, प्रेम जनमेजय स्मरण कर रहे हैं, डॉ धर्मवीर भारती को। पढ़िए प्रेम जनमेजय का संस्मरण, 'मेरे व्यंग्य लेखन की राह बदलने वाले'।

काव्य में पढ़िए - दोहे, कवितायें, ग़ज़ल, गीत, हाइकु, कुंडलियाँ व हास्य काव्य।

हिंदी दिवस के अवसर पर पढ़िए, अनेक कवियों की हिंदी पर कविताएँ, जिनमें सम्मिलित हैं, निराला की, 'हिन्दी सुमनों के प्रति', गिरिजाकुमार माथुर की, 'हिंदी जन की बोली है', रघुवीर सहाय की, 'हमारी हिंदी', प्रो मनोरंजन की, 'हिंदी मातु हमारी', डॉ लक्ष्मीमल्ल सिंघवी की, 'हिंदी हम सब की परिभाषा', शिक्षामंत्री 'निशंक' की 'हिंदी देश की शान' व अनिल जोशी' की 'भटका हुआ भविष्य' और 'हैरान परेशान, ये हिंदोस्तान है'।

लोक-कथाओं में अंडमान निकोबार की लोक कथा प्रकाशित की गई हैं।

काव्य में गीत, ग़ज़ल, कविता, दोहे, भजन व हास्य कविताएं सम्मिलित की गई हैं। 

बाल-साहित्य के बच्चों के लिए पठनीय सामग्री। 

आलेखों मे भारतेन्दु हरिश्चन्द्र का आलेख 'हिन्दी भाषा की समृद्धता', राहुल सांकृत्यायन का 'हिन्दी का स्थान', 'अटल जी का ऐतिहासिक भाषण', अरविंद कुमार का 'डिजिटल संसार में हिन्दी के विविध आयाम', प्रो.वीरेंद्र सिंह चौहान का 'हिंदी वालों को अटल-पताका की डोर फिर थमा गया विश्व हिंदी सम्मेलन' सम्मिलित किए गए हैं। इनमें से भारतेन्दु हरिश्चन्द्र व राहुल सांकृत्यायन का आलेख दुर्लभ हैं।

भगत सिंह जयंती पर विशेष

27 सितंबर को 'शहीद भगत सिंह' का जन्म-दिवस होता है। कुछ विवरणों में भगत सिंह का जन्म-दिवस 28 सितंबर भी दिया गया है।

अमर शहीद सरदार भगत सिंह का नाम विश्व में 20वीं शताब्दी के अमर शहीदों में बहुत ऊँचा है। भगतसिंह अपने देश के लिए ही जीए और उसी के लिए शहीद हो गए।

उन्हीं की स्मृति में यहां उन्हें समर्पित विशेष सामग्री प्रकाशित की गई है:

भगत सिंह का बचपन
"मैं नास्तिक क्यों हूँ?" -भगत सिंह का आलेख 
भगत सिंह का भाई कुलतारसिंह को लिखा हुआ पत्र
भगत सिंह की शायरी 
भगतसिंह पर लिखी कविताएं

भगत सिंह को पसंद थी ये ग़ज़ल


गाँधी जयंती पर विशेष

भारत के राष्ट्रपिता मोहनदास कर्मचंद गाँधी जिन्हें बापू व महात्मा गांधी भी संबोधित किया जाता है, का जन्म-दिवस हर वर्ष 2 अक्तूबर को गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है। गांधी जयंती के अवसर पर पढ़िए गांधीजी से संबंधित कविताएं, आलेख, गांधी जी के अनमोल वचनगांधी जी के बारे में कुछ तथ्य, गांधीजी के पौत्र अरुण गांधी से बातचीत।  

प्रेमचंद की स्मृति में पढ़िए - प्रेमचंद का अंतिम दिन।  

Our News