यदि स्वदेशाभिमान सीखना है तो मछली से जो स्वदेश (पानी) के लिये तड़प तड़प कर जान दे देती है। - सुभाषचंद्र बसु।

Find Us On:

English Hindi
Loading

स्वामी विवेकानंद की कविताएं

 (काव्य) 
 
रचनाकार:

 स्वामी विवेकानंद

यहाँ स्वामी विवेकानंद की कविताएं संकलित की गई हैं।

 

 

Back

 

More To Read Under This
काली माता
सागर के वक्ष पर

Comment using facebook

 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.