हिंदी और नागरी का प्रचार तथा विकास कोई भी रोक नहीं सकता'। - गोविन्दवल्लभ पंत।

Find Us On:

English Hindi
Loading
विडम्बना | लघु-कथा (कथा-कहानी) 
   
Author:रोहित कुमार 'हैप्पी'

मेरे एक मित्र को जब भी अवसर मिलता है अँग्रेज़ी भाषा व अँग्रेज़ी बोलने वालों को आड़े हाथों लेना नहीं भूलते । 

एक दिन कहने लगे, "यार, तुम अपनी राइटिंग (लेखन) में अँग्रेज़ी वर्ड (शब्द) मत यूज़ किया करो। क्या कभी रिडर्स (पाठकों) नें इस बारे में कम्पलेन (शिकायत) नहीं की?

 

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page

Comment using facebook

 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश