वही भाषा जीवित और जाग्रत रह सकती है जो जनता का ठीक-ठीक प्रतिनिधित्व कर सके। - पीर मुहम्मद मूनिस।

Find Us On:

English Hindi
Loading

साहित्य (काव्य)

Author: प्रताप नारायण मिश्र

जहाँ न हित-उपदेश कुछ, सो कैसा साहित्य?
हो प्रकाश से रहित तो, कौन कहे आदित्य?

- प्रताप नारायण मिश्र [24 सितम्बर, 1856 - 6 जुलाई, 1894]
आधुनिक हिंदी निर्माताओं में से एक थे। आप लेखक, कवि और पत्रकार थे।

Back

Comment using facebook

 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.