देशभाषा की उन्नति से ही देशोन्नति होती है। - सुधाकर द्विवेदी।

Find Us On:

English Hindi
Loading

दस हाइकु (काव्य)

Author: अशोक कुमार ढोरिया

नेक इरादे
चुनौतियां अपार
हार न माने

#

कैसा ये फर्ज़
देकर मृत्युभोज
चुकाता कर्ज़

#

टूटती नहीं
वहम की दीवार
मैले मन की

#

होनी चाहिए
सहयोग की भावना
हर दिल में

#

टूट जाते हैं
गलतफहमी में
गहरे रिश्ते

#

हारी जिंदगी
बिगड़े माहौल में
दरिंदगी से

#

बने आफत
बढ़ती जनसंख्या
बड़ी बीमारी

#

ऊँचा होता है
कामयाबी का पुल
मेहनत से


#

कौन छोड़ता
साथ भ्रष्टाचार का
जेब भरके

#

आते सपने
जागृत अवस्था में
होते हैं सच्चे

- अशोक कुमार ढोरिया
  ई-मेल: neelam11052014@gmail.com

Back

Comment using facebook

 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.
 
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश