हिंदी के पुराने साहित्य का पुनरुद्धार प्रत्येक साहित्यिक का पुनीत कर्तव्य है। - पीताम्बरदत्त बड़थ्वाल।

Find Us On:

English Hindi
प्रकाशनार्थ सम्मानार्थ प्रविष्टियाँ आमंत्रित (विविध) 
   
Author:भारत-दर्शन समाचार
प्रकाशनार्थ सम्मानार्थ प्रविष्टियाँ आमंत्रित

विश्व हिंदी साहित्य सेवा संस्थान द्वारा 2003 से लगातार साहित्यिकारों/पत्रकारों/समाजसेवियों/कलाकारों को सम्मानित  किया रहा है. इस वर्ष निम्नांकित सम्मान प्रस्तावित है-

01-कैलाश गौतम सम्मान-(हास्य/व्यंग्य रचना) 02-डॉ.किशेारी लाल सम्मान-(श्रृंगार रस की रचना)
03-हिंदी सेवी सम्मान-(विदेशी/अहिन्दी भाषी नागरिक-किसी भी विधा की रचना)
04-राजभाषा सम्मान-(सरकारी/अर्द्धसरकारी विभागों/उपक्रमों में कार्यरत राजभाषा अधिकारियों द्वारा हिन्दी के विकास के लिए)
05-राष्ट्रभाषा सम्मान-(अहिन्दी भाषी क्षेत्र में हिंदी के उत्थान के लिए)
06-कला/संस्कृति सम्मान-(संगीत, नाटक, पेंटिग, नृत्य आदि के क्षेत्र में उत्कृष्ठ योगदान के लिए)
07-बाल साहित्यकार सम्मान-(उम्र 21 वर्ष)
08- राष्ट्रीय प्रतिभा सम्मान-(हिन्दी सेवा के साथ-साथ किसी भी क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए)
09-राष्ट्रीय युवा प्रतिभा सम्मान-(उम्र 35 वर्ष से कम किसी भी क्षेत्र में विशेष योगदान)
10-पुलिस हिंदी सेवा सम्मान-(पुलिस सेवा में रहते हुए हिन्दी को बढ़ावा देने के लिए)
11-सांस्कृतिक विरासत सम्मान-(भारतीय/स्थानीय संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए)
12-प्रवासी भारतीय सम्मान (प्रवासी भारतीय जो हिंदी की किसी भी विधा में लिख रहे हों.)
13-युवा कहानीकार/युवा व्यंग्यकार/युवा कवि सम्मान-(उम्र 35 वर्ष से कम)
14-काव्यश्री
15-कहानीश्री
16-ग़ज़लश्री
17-दोहाश्री
18-विधि श्री (विधि प्रक्रिया में हिंदी के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए)
19-डॉक्टरश्री (डॉक्टरी पेशे में रहते हुए हिंदी की सेवा के लिए)
20-शिक्षकश्री (शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान के लिए)
21-सैनिक श्री (सैन्य सेवा में कार्य करते हुए हिंदी सेवा के लिए),
22-विज्ञान श्री (विज्ञान वेत्ता जो विज्ञान को हिंदी में बढ़ावा दे रहे है)
23-प्रशासक सम्मान/प्रशासकश्री (कुशल प्रशासन अथवा किसी भी प्रकार से हिंदी को बढ़ावा देने के लिए)

24-विहिसा अलंकरण-हिन्दी की किसी भी विधा में प्रकाशित/अप्रकाशित 100 पृष्ठों की एक किताब के लिए,
उपाधियां उपाधियां प्रकाशित/अप्रकाशित कम से कम 100 पृष्ठीय कृति पर ही प्रदान की जायेगी. साहित्य के क्षेत्र में- साहित्य भूषण, साहित्य शिरोमणि, साहित्य सम्राट, कहानी सम्राट, कहानी रत्न, काव्य रत्न, काव्य श्री, काव्य शिरोमणि, दोहा श्री, ग़ज़ल श्री समाज के क्षेत्र में- समाज शिरोमणि, समाज रत्न, समाजश्री, पत्रकारिता के क्षेत्र में- पत्रकार शिरोमणि, पत्रकार रत्न, पत्रकारश्री

विशेषः
1. प्रत्येक प्रविष्टि के साथ सम्बन्धित विधा की एक रचना, विवरण के सम्बंध में प्रमाणिक विवरण तीन प्रतियों में तथा साथ एक पोस्ट कार्ड, एक टिकट लगा जवाबी लिफाफा, सचित्र स्वविवरणिका और 200 रुपये मात्र का धनादेश/ बैंक ड्राफ्ट/ मल्टी सिटी चेक अथवा युनियन बैंक ऑफ इंडिया की किसी भी शाखा से ‘सचिव विश्व हिन्दी साहित्य सेवा संस्थान, इलाहाबाद’ के नाम से खाता संख्याः 538702010009259 में जमा कर, जमा पर्ची की छाया प्रति आवेदन के साथ संलग्न कर भेजना अनिवार्य होगा.

2. प्रतिभागी सभी साहित्यकारों को राष्ट्रीय हिन्दी मासिक ‘विश्व स्नेह समाज’ की वार्षिक सदस्यता निःशुल्क प्रदान की जाएगी.
3. रचनाओं के साथ मौलिकता को दर्शाना अनिवार्य होगा. सम्मान किसी भी परिस्थिति में डाक से प्रेषित नहीं किया जाएगा और न अपूर्ण प्रविष्टियों पर विचार किया जाएगा 4.प्रत्येक सम्मान के लिए एक विद्वजन का ही चयन किया जाएगा जो सर्वोच्च होगा। सम्मान समारोह इलाहाबाद में आयोजित किया जाएगा।

अंतिम तिथिः 30 अक्टूबर 2013
अन्य जानकारी के लिए सम्पर्क करें-

सचिव, विश्व हिन्दी साहित्य सेवा संस्थान,
एल.आई.जी-93, नीम सराय कालोनी, मुण्डेरा, इलाहाबाद-211011, उ.प्र.
मो.:  09335155949,

ईमेल- sahityaseva@rediffmail.com

#

Previous Page  |  Index Page  |   Next Page

Comment using facebook

 
 
Post Comment
 
Name:
Email:
Content:
Type a word in English and press SPACE to transliterate.
Press CTRL+G to switch between English and the Hindi language.
 
 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश