हिंदी भाषा के लिये मेरा प्रेम सब हिंदी प्रेमी जानते हैं। - महात्मा गांधी।

Find Us On:

English Hindi
Loading

क्षणिकाएं

क्षणिकाएं

Article Under This Catagory

पाँच क्षणिकाएँ  - नवल बीकानेरी

अर्थी के
अर्थ को
अगर मानव समझता
तो कदाचित्
अर्थ का
सामर्थ्य समझता।