समाज और राष्ट्र की भावनाओं को परिमार्जित करने वाला साहित्य ही सच्चा साहित्य है। - जनार्दनप्रसाद झा 'द्विज'।

Find Us On:

English Hindi

बच्चों की कविताएं

यहाँ आप पाएँगे बच्चों के लिए लिखा बाल काव्य जिसमें छोटी बाल कविताएं, बाल गीत, बाल गान सम्मिलित हैं।

Article Under This Catagory

नटखट चिड़िया - रोहित कुमार 'हैप्पी'

ची-ची करके गाती चिड़िया
सबका मन बहलाती चिड़िया।
फुदक-फुदक कर नाचे चिड़िया
मुनिया बैठी बाँचे चिड़िया।

 
मोटा लाला - नमित कालरा

मोटा लाला, मोटा लाला
आ गए अपना पेट फुला कर
जब देखो तुम खाते रहते
बर्गर, समोसा मज़े ले-ले कर।

 

 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश