राष्ट्रभाषा के बिना आजादी बेकार है। - अवनींद्रकुमार विद्यालंकार

Find Us On:

English Hindi
शिक्षक दिवस | 5 सितंबर
   
 

शिक्षक-दिवस पर शुभ-कामनाएं! भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म-दिवस के अवसर पर शिक्षकों के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए भारत भर में शिक्षक दिवस 5 सितंबर को मनाया जाता है।

गुरू का स्थान भारत में विशेष महत्व रखता आया है इसका अनुमान हम -

'गुरु ब्रह्मा, गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वरः।
गुरुः साक्षात परब्रह्म तस्मैः श्री गुरुवेः नमः।।'

यानि गुरू ही ब्रहमा है, गुरू ही विष्णु है और गुरु की महेश है। साक्षात प्रब्रहम स्वरूप ऐसे गुरू को नमस्कार।

कबीर जी ने भी विभिन्न दोहों में गुरू की महिमा का उल्लेख किया हैं।

'शिक्षक-दिवस' पर डा जगदीश गांधी का आलेख, 'समाज के वास्तविक शिल्पकार होते हैं शिक्षक' पढ़ें।

 
गुरू महिमा पर कबीर दोहे
(41)

मानसिकता | लघु-कथा
वे एक प्राइवेट स्कूल में काम करते थे और उनका बेटा रवि भी उसी स्कूल में पढ़ता था। वे बहुत परिश्रमी और  आदर्श शिक्षक थे। प्राइवेट स्कूल और सरकारी स्कूल में मिलने वाली सुविधाओं और वेतन में जमीन-आसमान का अंतर रहता है जो सर्वविदित है। वे भी बरसों से प्रयास कर रहे थे कि उन्हें सरकारी स्कूल में नौकरी मिल जाए।

 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश