भारतेंदु और द्विवेदी ने हिंदी की जड़ पाताल तक पहुँचा दी है; उसे उखाड़ने का जो दुस्साहस करेगा वह निश्चय ही भूकंपध्वस्त होगा।' - शिवपूजन सहाय।

Find Us On:

English Hindi
पंकज बिष्ट जन्म-दिवस | 20 फरवरी
   
 

20 फरवरी को समयांतर के संपादक, 'पंकज बिष्ट' का जन्म-दिवस होता है।  1946 को मुम्बई में जन्में पंकज बिष्ट की आरम्भिक शिक्षा अल्मोड़ा लखनऊ में हुई। आपने आगरा विश्वविद्यालय से 1966 में स्नातक करने के पश्चात 1969 में मेरठ विश्वविद्यालय से अंग्रेजी साहित्य में एम. ए. किया। 

पंकज बिष्ट के व्यावसायिक जीवन का आरम्भ भारतीय सूचना सेवा के प्रकाशन विभाग से हुआ जहां आप 1969 से 1980 तक प्रकाशन विभाग में उपसंपादक व सहायक संपादक रहे। तत्पश्चात् 1980 से 1982 तक आकाशवाणी की समाचार सेवा में सहायक समाचार संपादक व संवाददाता के रूप में कार्यरत रहे और 1983 से 1987 तक 'आकाशवाणी' पत्रिका का संपादन किया। 1987 से 1989 तक फिल्म्स डिवीजन में संवाद-लेखन किया।

वर्तमान में पंकज बिष्ट ‘समयांतर' पत्रिका का सम्पादन कर रहे हैं।

पंकज बिष्ट के साहित्यिक स्रजन में इनकी मुख्य कृतिएं हैं -

कहानी संग्रह - 'अंधेरे से, 'मैं असगर वजाहत के साथ' व कहानी संग्रह 'पन्द्रह जमा पच्चीस' व 'बच्चे गवाह नहीं हो सकते' और 'टुन्ड्रा प्रदेश'।

उपन्यास - 'लेकिन दरवाजा' व 'उस चिड़िया का नाम।

'उस चिड़िया का नाम' का अंग्रेजी सहित विभिन्न भारतीय भाषाओं में नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा अनुदित हो चुकी है।

आपके बाल उपन्यास 'गोलू और भोलू' का भी कई भारतीय और विदेशी भाषाओं में अनुवाद हो चुका है।

कथा-कहानी, काव्य व उपन्यास के अतिरिक्त पंकज जी ने संचार माध्यम और पत्रकारिता पर अनेक आलेख लिखे हैं।  'समयांतर' पत्रिका का सम्पादन।

 

 

 
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश