समस्त भारतीय भाषाओं के लिए यदि कोई एक लिपि आवश्यक हो तो वह देवनागरी ही हो सकती है। - (जस्टिस) कृष्णस्वामी अय्यर

Find Us On:

English Hindi
न्यूजीलैंड श्रम दिवस | 28 अक्टूबर
   
 

न्यूजीलैंड में श्रम दिवस (Labour Day) अक्टूबर के चतुर्थ सोमवार को आयोजित एक सार्वजनिक अवकाश है। इसके मूल 'एक दिन आठ घंटे काम वाले आंदोलन' जुड़े हैं जिसका उदय 1840 में नव गठित वेलिंग्टन कॉलोनी में हुआ था। यहां के बढ़ई सेम्युल पार्नेल (Samuel Paell) ने दिन में आठ घंटे से अधिक काम करने पर आपत्ति जताई और उसने अन्य कर्मियों को भी प्रोत्साहित किया कि वे भी दिन में आठ घंटे से अधिक काम न करें। बाद में इसने एक आंदोलन का रूप ले लिया। फिर श्रमिकों की एक सभा ने दिन में आठ घंटे से अधिक काम न करने के विचार को एक प्रस्ताव के रूप में पारित किया।

28 अक्टूबर 1890 को 'आठ घंटे के दिन' की 50वीं वर्षगांठ के अवसर पर एक परेड निकाली गई। तत्पश्चात् प्रतिवर्ष अक्टूबर अंत में 'श्रमिक दिवस' मनाया जाने लगा। 1899 में न्यूज़ीलैंड सरकार ने इस दिन को एक सार्वजनिक अवकाश के रूप में मान्यता दी और 1900 से सैंवधानिक रूप से 'लेबर डे' का सार्वजनिक अवकाश होने लगा। यह दिन देश के विभिन्न क्षेत्रों प्रांतों में अलग-अलग दिन मनाया जाता था। इससे नौका व जहाज के मालिकों को यह समस्या आने लगी कि नाविक एक बंदरगाह पर 'श्रमिक दिवस' की छुट्टी रखता तो कई बार दूसरे बंदरगाह पर (जोकि अन्य क्षेत्र में होता) फिर श्रमिक दिवस के अवकाश की मांग करने लगता। इस प्रकार नौका व जहाजों पर काम करने वाले लोग इसका लाभ उठाने लगे। जहाज मालिकों की ने सरकार को शिकायत की और 1910 में सरकारी अवकाश देश भर में एक ही दिन पर निर्धारित किया गया जोकि अक्टूबर के चतुर्थ सोमवार को होता है।


- रोहित कुमार 'हैप्पी'

 
 
 
 

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश