जो साहित्य केवल स्वप्नलोक की ओर ले जाये, वास्तविक जीवन को उपकृत करने में असमर्थ हो, वह नितांत महत्वहीन है। - (डॉ.) काशीप्रसाद जायसवाल।

Find Us On:

English Hindi
Loading

भारत-दर्शन - वेब हिंदी पत्रकारिता का जनक

न्यूज़ीलैंड से प्रकाशित, भारत-दर्शन है वेब हिंदी पत्रकारिता का जनक

भारत-दर्शन हिंदी वेब पत्रकारिता (न्यू मीडिया) में नेतृत्व करता है। 'भारत-दर्शन' 1996-97 में इंटरनेट पर विश्व का पहला हिंदी प्रकाशन था। आपको शायद जानकार आश्चर्य होगा कि हिंदी वेब-पत्रकारिता का आरंभ भारत से न होकर, न्यूज़ीलैंड से हुआ है।

क्या आप जानते हैं?

- इंटरनेट की पहली हिंदी पत्रिका न्यूज़ीलैंड से प्रकाशित 'भारत-दर्शन' (दिसंबर-जनवरी, 1996-97) थी।
- इसके बाद दूसरी 'बोलोजी' जिसमें कुछ पृष्ठ हिंदी के होते थे, 1999 में अमरीका से प्रकाशित हुई। राजेन्द्र कृष्ण इसका प्रकाशन करते थे।
- पूर्णिमा जी ने अभिव्यक्ति 2000 (शारजहा) का प्रकाशन आरम्भ किया।

दिलचस्प बात यह है कि उपरोक्त तीनों प्रकाशन भारत से प्रकाशित न होकर न्यूजीलैंड, शारजहा व अमरीका से प्रकाशित हो रहे थे। इंटरनेट का पहला प्रकाशन भारत-दर्शन था व इसके बाद ही भारत से ‘दैनिक जागरण' (1997) व भारत का पहला हिंदी पोर्टल ‘वेब दुनिया' (1999) प्रकाशित हुआ।

न्यूज़ीलैंड से प्रकाशित, इंटरनेट पर विश्व की पहली हिंदी पत्रिका, 'भारत-दर्शन' का संपादन व प्रकाशन रोहित कुमार हैप्पी करते हैं। यह पत्रिका 1996-97 से इंटरनेट पर प्रकाशित हो रही है।

 

Author's Collection

Total Number Of Record :0 Total Number Of Record :0

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश