वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं। - मैथिलीशरण गुप्त।

Find Us On:

English Hindi
Loading

अकबर बीरबल के किस्से

सम्राट अकबर और  बुद्धि  सम्राट  बीरबल की  बुद्धिमत्ता,  वाक-पट्टुता के ज्ञानवर्धक व मनोरंजन से भरपूर किस्से-कहानियां।

Author's Collection

Total Number Of Record :1
भारत-दर्शन संकलन

प्राचीनकाल के राजदरबारों में सब प्रकार के गुणियों का सम्मान किया जाता था। बादशाह अकबर के दरबार में बीरबल अपनी विनोदप्रियता व कुशाग्रबुद्धि के लिए जाने जाते थे। अकबरी राजसभा के नौरत्नों में बीरबल कोहेनूर हीरा कहे जा सकते हैं।

...

More...
Total Number Of Record :1

सब्स्क्रिप्शन

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश