भारत-दर्शन | Bharat-Darshan, Hindi literary magazine
भारतीय उच्चायुक्त ने आरोप निराधार बताए
Author : भारतीय उच्चायुक्त ने आरोप निराधार बताए

न्यूजीलैंड 27 जून: न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त रवि थापर ने इस बात से इनकार किया है कि वे अपनी पत्नी पर लगे आरोपों के कारण न्यूज़ीलैंड छोड़ रहे हैं। उनकी पत्नी पर रसोइये के साथ मारपीट का आरोप है।

लोअर हट (न्यूजीलैंड) में अपने निवास पर उच्चायुक्त थापर ने मीडिया को बताया कि वे अपनी माँ की देखभाल के लिए भारत लौट रहे हैं। उन्होंने कहा, "मैं अपनी माँ की देखभाल करने के लिए जा रहा हूँ क्योंकि पिछले वर्ष मेरे पिताजी का निधन हो गया था। मैं 13,000 किलो मीटर दूर रहकर केवल फोन पर बात करके उनकी देखभाल नहीं कर सकता।"

उच्चायुक्त ने अपने पत्नी पर लगे सभी आरोपों को निराधार बताया है और कहा है कि उनकी पत्नी एक अनुभवी कूटनीतिक की जीवनसंगिनी हैं और वे ऐसा नहीं कर सकतीं। उन्होंने अपने रसोईए के बारे में कहा, "किसी भी व्यक्ति को काम छोड़ने की पूर्ण स्वतंत्रता है और अपनी मरजी की भी।"

उच्चायुक्त ने आरोप लगाया कि उसने कहानी 'गढ़ी' है किंतु वह इसमें सफल नहीं हुआ।
उच्चायुक्त के रसोइये को बड़ी व्यथित अवस्था में वेलिंग्टन में किसी व्यक्ति ने देखा तो उसकी सहायता के लिए वह उसे पुलिस स्टेशन ले गया। कुछ दिन तक इस पीड़ित कर्मचारी को एक सामाजिक संस्था ने आश्रय दिया।

रसोइये ने 9 मई को पुलिस से बातचीत की थी। उसने पुलिस को बताया था कि श्रीमती थापर ने उससे मारपीट की व उसे धमकाया। रसोइये ने औपचारिक शिकायत दर्ज नहीं करवाई। वह केवल वापिस भारत जाना चाहता था।

न्यूज़ीलैंड पुलिस ने विदेश मंत्रालय को इसकी पुष्टि की जिसके पश्चात भारत सरकार को इस बारे में सूचित किया गया। इसके पश्चात इस मामले को सुलझाने के लिए भारत सरकार से एक अधिकारी न्यूज़ीलैंड आया जिसकी सहायता से रसोइये को उसका सामान व पासपोर्ट दिलाया गया और 28 मई को वह भारत लौट गया।

न्यूज़ीलैंड पुलिस उच्चायुक्त से पूछताछ करना चाहती थी लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया व उच्चायुक्त के किसी भी कर्मचारी से इस बारे में पूछताछ की अनुमति नहीं दी।

श्री थापर ने दिसंबर 2013 में न्यूज़ीलैंड में उच्चायुक्त का पद संभाला था।

न्यूज़ीलैंड पुलिस ने इस बात कि पुष्टि की है कि उन्होंने उच्चायुक्त कर्मचारी से 9 मई को बात की थी व उसने इस मामले को आगे न बढ़ाने की इच्छा जताई थी। वह केवल घर लौट जाना चाहता था। पुलिस ने बताया है कि कर्मचारी के लौटने के बाद उसकी कुशलता के बारे में पूछता की गई थी और वह भारत में अपने घर अब सकुशल है।

भारतीय विदेश मंत्रालय ने अब न्यूजीलैंड में भारत के उच्चायुक्त रवि थापर को वापस बुला लिया
है।

[रोहित कुमार]