हिंदी ही भारत की राष्ट्रभाषा हो सकती है। - वी. कृष्णस्वामी अय्यर

Find Us On:

English Hindi
Loading

Archive of बाल-कविता विशेषांक Issue

बाल-कविता विशेषांक

14 नवंबर को 'बाल-दिवस' होता है। हिन्दी साहित्य में बाल साहित्य की परम्परा बहुत समृद्ध है। पंचतंत्र की कथाएँ बाल साहित्य का एक महत्वपूर्ण स्रोत हैं।

इस अँक में बाल-कविताएँ प्रमुखता से प्रकाशित की गई हैं ।  इस बार बाल-काव्य में अनेक बाल कविताएं दी गई हैं । हमारा प्रयास रहा है कि ऐसी सामग्री प्रकाशित की जाए जो इंटरनेट पर उपलब्ध नहीं है।  इस बार मुख्य धारा के साहित्याकरों का बाल साहित्य उपलब्ध करवाने का प्रयास किया है यहाँ प्रकाशित अधिकतर सामग्री केवल 'भारत-दर्शन' के प्रयास से इंटरनेट पर अपनी उपस्थिति दर्ज कर रही है ।

अन्य बाल-साहित्य में बाल-कथाएँ, बाल कहानियां, पौराणिक कथाएं व कहानियाँ  प्रकाशित की हैं ।

बालकथा-कहानी में मुंशी प्रेमचंद की 'परीक्षा', निराला की सीख भरी कथा, हरिवंश राय बच्चन की बाल कहानी, 'चुन्नी मुन्नी', के अतिरिक्त 'नकल',  'फ़क़ीर का उपदेश' प्रकाशित की गई हैं ।


मैथिलीशरण गुप्त की 'भारत-भारती' व 'रामावतार त्यागी की, 'मैं दिल्ली हूँ' भी पढ़ें।

सब्स्क्रिप्शन

सर्वेक्षण

भारत-दर्शन का नया रूप-रंग आपको कैसा लगा?

अच्छा लगा
अच्छा नही लगा
पता नहीं
आप किस देश से हैं?

यहाँ क्लिक करके परिणाम देखें

इस अंक में

 

इस अंक की समग्र सामग्री पढ़ें

 

 

सम्पर्क करें

आपका नाम
ई-मेल
संदेश